News.

Back

भावांतर योजना पर शिवराज ने लिखा सीएम कमलनाथ को पत्र, यादव ने दिया जवाब

22 Jan 2019

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भावांतर योजना को बंद किए जाने संबंधी खबरों को लेकर मुख्यमंत्री कमलनाथ को पत्र लिख कर विरोध जताया है। कृषि मंत्री सचिन यादव ने पलटवार करते हुए कहा है कि भाजपा नेता झूठे बयानों के आधार पर प्रासंगिकता बरकरार रखना बंद करें। चौहान ने पत्र में लिखा है कि भावांतर योजना को बंद करने का फैसला बताता है कि कांग्रेस सरकार किसानों को सोयाबीन और मक्का पर 500 रुपए प्रति क्विंटल फ्लैट रेट भावांतर देने से बचना चाहती है। मेरे कार्यकाल में किसानों के हित में जो फैसले लिए गए, कांग्रेस सरकार भी उनका पालन सुनिश्चित करे। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि भावांतर योजना को बंद किया गया तो वे सरकार के खिलाफ आंदोलन करेंगे। 

भाजपा नेता भ्रम फैला रहे 

इधर, यादव ने इसका जवाब देते हुए कहा कि शिवराज सरकार ने गेहूं का बोनस और धान पर प्रोत्साहन राशि बंद कर दी थी। सोयाबीन और मक्का की खरीदी पर भी 500 रुपए क्विंटल देने की योजना नहीं थी। भाजपा नेता भ्रम फैला रहे हैं। कमलनाथ सरकार का किसानों की कर्ज माफी का निर्णय भाजपा सरकार के 15 साल में लिए गए फैसलों से कई गुना बेहतर है।